मथुरा में दिल दहलाने वाला हादसा: इनोवा नहर में गिरी, 10 लोग मरे

0
180

जस्ट अभी….आगरा रीजन में एक भीषण हादसे में 10 की मौत हो गई, इनोवा नहर में गिर गई, दो घंटे तक घायल नहीं निकाले जा सके, हादसे में दो परिवार के 10 लोगों की मौत हो गई है। परिवार बरेली के बताए जा रहे हैं और वे बालाजी दर्शन के लिए जा रहे थे।
बरेली के सुभाष नगर निवासी जयकरण और महेश शर्मा दोनों के परिवार बालाजी दर्शन के लिए इनोवा गाडी से जा रहे थे। रविवार सुबह 4. 30 बजे मथुरा भरतपुर रोड पर फतेहपुर सीकरी राजवा में मकहरा गांव के पास नहर में इनोवा गिर गई, सुबह के समय वहां कोई नहीं था।
गांव से भागे लोग, तीन घंटे बाद निकले 10 शव
सुबह साढे चार बजे नहर के पास कोई नहीं था, पास से गांव का युवक सुबह दौड लगाने आया था, उसने इनोवा को नहर में गिरते देखा, वह दौडता हुआ गांव में पहुंचा, वहां से ग्रामीण नहर की तरफ भागे। ग्रामीणों ने नहर का पानी बंद किया, लेकिन सुबह होने के कारण चार पांच ग्रामीण ही थे, उन्होंने बचाव कार्य शुरू किया। इनोवा से घायलों को बाहर निकालने लगे, एक के बाद एक साढे सात बजे तक 10 लोगों को बाहर निकाला गया लेकिन तब तक सभी की मौत हो चुकी थी।

10 शव देख लोगों की रूह कांपी
एक के बाद एक 10 शव निकाले गए, इन शवों को देख लोगों की रूह कांप गई, ग्रामीणों में आक्रोश है कि हादसे के बाद पुलिस और प्रशासन की तरफ से कोई मदद नहीं हुई। छह बजे के बाद पुलिस कर्मी पहुंचे लेकिन उन्होंने राहत कार्य में कोई मदद नहीं की, इनोवा को बाहर निकालने के लिए क्रेन नहीं मंगाई और एंबुलेंस भी नहीं बुलाई गई।
पुलिस छोटी होने से हादसे, सात लोगों की पहले हो चुकी है मौत
मथुरा से भरतपुर जाने वाला रोड चौडा है, इस पर नहर पर बनी पुलिस छोटी है, इससे सामने से आ रहे वाहनों की लाइट और ओवर टैक करने पर गाडी नहर में गिरने की आशंका रहती है, तीन साल पहले भी इसी तरह का हादसा हुआ था, इसमें सात लोगों की मौत हो गई थी। इसके बाद से ग्रामीण पुलिया को रोड के बराबर बनाने की मांग कर रहे हैं, इसे लेकर ग्रामीणों में आक्रोश है।

विधायक को ग्रामीणों ने खदेडा
हादसे से आक्रोशित ग्रामीणों के बीच सुबह 8. 30 बजे भाजपा विधायक करिंदा सिंह पहुंचे, उन्हें देख ग्रामीण भडक गए, उन्हें धक्के मारकर वहां से जाने के लिए कहा, ग्रामीणों का आरोप है कि हादसे के बाद से वे विधायक सहित जिला प्रशासन के अधिकारियों को फोन कर रहे थे लेकिन कोई भी घायलों की जान बचाने के लिए नहीं पहुंचा।

LEAVE A REPLY