IPL में आगरा के तजिंदर, दीपक और राहुल चाहर को मिला मौका, अब दिखेगा आगरा का दम

0
515

Just abhi…… IPL में अब आगरा के तीन धुरंधर अपनी प्रतिभा का जलवा  दिखाएंगे। आगरा के लिए बडी उपलब्धि आईपीएल में आगरा के तीन युवा क्रिकेटरों को खरीदा गया है। आईपीएल के आॅक्शन में चेन्नई सुपरकिंग ने दीपक चाहर और मुंबई इंडियन ने राहुल चाहर और तजेंद्रर सिंह को खरीदा है। ये तीनो ही आगरा के रहने वाले हैं और राजस्थान के लिए क्रिकेट खेलते हैं। राहुल चाहर और दीपक चाहर चचेरे भाई हैं। तीनों खिलाड़ियों के चयन पर शहर में खुशी है।

1 करोड़ 90 लाख में बिके राहुल
आईपीएल नीलामी के दूसरे दिन पहली बोली राहुल चाहर की लगी। 20 लाख रुपए की बेस प्राइस वाले राहुल चाहर को मुंबई इंडियंस ने 1 करोड़ 90 लाख रुपए में खरीदा है।
सात अप्रैल से 27 मई तक होने जा रहे 11 वें आईपीएल 2018 के लिए खिलाडियों का आॅक्शन चल रहा है। इसमें आगरा के दीपक चाहर के लिए चेन्नई सुपरकिंग, किंग्स इलेवन पंजाब और दिल्ली डेयरडेवल्स ने बोली लगाई, चेन्नई सुपरकिंग ने दीपक चाहर को 80 लाख में खरीद लिया। वहीं, तजेंद्रर सिंह के लिए मुंबई इंडियंस, राजस्थान रॉयल्स और दिल्ली डेयरडेविल्स ने बोली लगाई थी। मुंबई इंडियंस ने 50 लाख रुपये में तजेंद्र सिंह को खरीदा है।
2017 आईपीएल में खेल चुके हैं दीपक चाहर
दीपक चाहर आगरा के कागारौल के पास स्थित नारौल गांव के निवासी हैं। वह राजस्थान की तरफ से रणजी खेलते हैं। अब तक दीपक ने 35 रणजी मैच में 105 विकेट चटकाए हैं। वर्ष 2005 में उन्होंने राजस्थान की अंडर-15 बोर्ड ट्राफी खेली। वर्ष 2006 में राजस्थान की टीम का हिस्सा बनकर इंग्लैंड गए और पांच मैचों में 11 विकेट लिए। इसी साल बोर्ड ट्राफी के चार मैचों में 12 विकेट झटके। वर्ष 2009 में राजस्थान की अंडर-19 टीम से खेलते हुए चार मैच में 21 विकेट प्राप्त किए। चार बार इंडिया कैंप किया। अंडर-15, 19, और 23 आयु वर्गों में कैंप में शामिल हुए। वर्ष 2010 में दीपक चाहर ने राजस्थान टीम की ओर से रणजी ट्राफी खेलना शुरू किया। नवंबर 2010 में हैदराबाद की टीम के खिलाफ उन्होंने सात ओवर में महज दस रन देकर आठ विकेट प्राप्त कर रिकार्ड कायम किया। वर्ष 2011 में दिलीप ट्राफी और वर्ष 2011 और 2012 में इरानी ट्राफी खेली। इरानी ट्राफी के दोनों वर्षों में राजस्थान की टीम विजेता रही। दीपक युवराज सिंह, गौतम गंभीर और सहवाग सरीखे खिलाड़ियों का विकेट प्राप्त कर चुके हैं।
पिता लोकेंद्र सिंह ने शुरू से दीपक को कोच के रूप में प्रशिक्षण दिया। वह एयरफोर्स से सेवानिवृत्त हैं। जीडी गोयंका चाहर एकेडमी चलाते हैं, दीपक अभी भी इसी मैदान पर अभ्यास करते हैं। दीपक की मां पुष्पा चाहर हाउस वाइफ हैं। उनका चचेरा भाई राहुल चाहर भी राजस्थान की अंडर-19 टीम में है।

LEAVE A REPLY