Agra: एफएसडीए की टीम में कौन था ‘वसूली भाई’, फोटो हो रहा वायरल

0
593

just abhi …. एफएसडीए यमुना ब्रिज पर मिष्ठान विक्रेता के यहां एफएसडीए के छापे के दौरान कारोबारी को हार्ट अटैक पडने के बाद दोनों तरफ से मुकदमा दर्ज कराया गया है। छापा मारने गई टीम में बाहरी व्यक्ति का एक फोटो वायरल हो रहा है, यह फोटो छापा मारने गई टीम में शामिल बाहरी व्यक्ति का बताया जा रहा है, कारोबारियों का आरोप है कि यह व्यक्ति एफएसडीए की टीम के सदस्य का भाई है। इस घटना से कारोबारियों में आक्रोश है, भाजपा नेता भी कारोबारी के पक्ष में आ गए हैं। इंस्पेक्टर एत्माउददौला का कहना है कि दोनों तरफ से मुकदमा दर्ज किया गया है, मामले की जांच की जा रही है।
सोमवार को एफएसडीए की फ़ूड इंस्पेक्टर पूनम यादव, बसंत गुप्ता, सुरेंद्र गौड़ सहित टीम के अन्य सदस्य ने अग्रवाल स्वीट हाउस, मोतीबाग से बर्फी ( संघटक-खोया और चीनी )और सोन पापड़ी के सैंपल लिए। दुकान पर हरीमोहन अग्रवाल और उनके भाई सतीश अग्रवाल बैठे हुए थे।
सतीश अग्रवाल का आरोप है कि टीम के सदस्य 10 हजार रुपये की रिश्वत मांगने लगे, रिश्वत न देने पर सैंपल फेल कराकर दुकान सील करने की धमकी दे दी। इससे कारोबारी दहशत में आ गया, उन्हें बेचैनी और घबराहट होने लगी। दुकान पर काम कर रहे कर्मचारियों ने उन्हें गायत्री हॉस्पिटल, यमुना पार में भर्ती कराया, यहां डॉक्टर ने हार्ट अटैक की जानकारी दी। इससे आक्रोशित कारोबारियों ने टीम के खिलाफ कार्रवाई की मांग करते हुए हंगामा किया। इस मामले में फ़ूड इंस्पेक्टर पूनम यादव द्वारा कारोबारी पर अभद्रता और छेडखानी का आरोप लगाते हुए मुकदमा दर्ज कराया गया। वहीं, कारोबारी द्वारा रिश्वत मांगने और दुकान बंद कराने की धमकी देने से हार्ट अटैक पडने की तहरीर पर मुकदमा दर्ज किया गया है।
फोटो हो रहा वायरल

कारोबारियों का आरोप है कि एफएसडीए की टीम के साथ बाहरी लोग चलते हैं, वे ही रिश्वत मांगते हैं। इस मामले में एक फोटो वायरल हो रहा है, इसी व्यक्ति द्वारा पैसे मांगे गए थे और यह एफएसडीए की टीम में शमिल सदस्य का भाई बताया जा रहा है। इस व्यक्ति के द्वारा ही दुकान से भरे गए सैंपल पर सील लगाने की बात कही जा रही है । जिला प्रशासन और पुलिस मामले की जांच कर रही है।

LEAVE A REPLY